Media Report for SIME Workshop

Media Report for SIME Workshop

English Media Report

  • The Society of Industrial Management and Engineering (SIME), BIT Mesra, organized the first session of a four-week online live workshop on Drone Design and Development on 3rd October, 2021.
  • The workshop commenced on Google meet platform from 11:00 A.M., where the Joint Treasurer of SIME, Krishna Kumar Singh Garia, welcomed the workshop’s speakers, faculty, and students.
  • He further elaborated that students will learn about drone technology and drone regulation in 2021. Following the session, participants will compete in a drone design and concept development competition, in which they will submit their drone design concepts to the judges.
  • Hon’ble Air Commodore Pradeep Kumar Choudhary was present as the workshop’s keynote speaker. Creator of General Aeronautics Pvt. Ltd., a company dedicated to the design and development of unmanned aerial vehicles, he is currently deployed at the Aeronautical Development Agency as a mechanical system and maintainability expert consultant. 
  • The students learned about Quadrotor Theory, frames of reference, Euler angles, transformation, degrees of freedom, and how Drone Dynamics are utilized to explain the state of motion during the lesson. 
  • Drone dynamics was primarily taught to the students along with its utilisation.
  • A brief video was also presented on a drone’s movement towards the end of the session to help clarify the topic even better.
  • The first session culminated at 1:00 P.M. with a Q&A session to clear the students’ queries.

हिंदी मीडिया रिपोर्ट

  • औद्योगिक प्रबंधन और अभियांत्रिकी सोसायटी (एसआईएमई), बी.आई.टी मेसरा, ने चार सप्ताह तक चलने वाले ड्रोन डिजाइन के प्रथम कार्यशाला का आयोजन 3 अक्टूबर, 2021 को किया ।
  • कार्यशाला सुबह 11 बजे से गूगल मीट प्लेटफॉर्म पर आयोजित की गयी थी। प्रारंभ में संयुक्त कोषाध्यक्ष कृष्ण कुमार सिंह गरिया ने सभी लोगों का स्वागत किया ।
  • इसके पश्चात् उन्होंने छात्रों को बताया कि उन्हें ड्रोन डायनेमिक्स और 2021 के ड्रोन विनियमन से अवगत कराया जाएगा। सत्र के बाद उन्हें एक ड्रोन डिजाइन और अवधारणा विकास प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का अवसर मिलेगा जिसमें वे निर्णायक मंडली को अपनी ड्रोन डिजाइन प्रस्तुत करेंगे। 
  • कार्यशाला के मुख्य वक्ता एयर कमोडोर प्रदीप कुमार चौधरी थे जो वर्तमान में वैमानिकी विकास एजेंसी द्वारा एक यांत्रिक प्रणाली और रखरखाव विशेषज्ञ सलाहकार के रूप में कार्यरत है। वे जनरल एरोनॉटिक्स प्राइवेट लिमिटेड के निर्माता हैं।
  • इस कार्यशाला में छात्रों ने क्वाड्रोटर थ्योरी, संदर्भ के फ्रेम, यूलर कोण, परिवर्तन, स्वतंत्रता की डिग्री, और पाठ के दौरान गति की स्थिति को समझाने के लिए ड्रोन डायनेमिक्स के विभिन उपयोगियों के बारे में सीखा। 

Leave a Reply