आधुनिक दिल्ली की शिल्पकार

आधुनिक दिल्ली की शिल्पकार

शीला दीक्षित, जिन्होंने लगातार पंद्रह साल तक दिल्ली के मुख्यमंत्री पद का कार्यकाल संभाला, पंचतत्व में विलीन हो गयीं। दीक्षित को 19 जुलाई की सुबह दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया। दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने उन्हें राजकीय सम्मान दिया एवं दो दिन का राजकीय शोक घोषित किया।  पूर्व मुख्यमंत्री…

Continue Reading

आसक्ति: एक रन्ध्र जाल छिद्र

आसक्ति: एक रन्ध्र जाल छिद्र

” व्यसन शब्द या फिर ‘लत’ किसी पदार्थ या गतिविधि के साथ बार-बार जुड़ने का संकेत देता है, जिसके कारण उससे होने वाले पर्याप्त नुकसान का पता चल सकता है। व्यसन एक पुरानी स्थिति है, जहाँ मन भागीदारी को सुखद मानता है और इस गतिविधि में शामिल होने पर इनाम अथवा प्रेरणा के लिए इच्छुक…

Continue Reading

भारत में किसानों का हाल

भारत में किसानों का हाल

स्वंय भिष्मपितामह ने कहा था “अगर किसान ही अपनी अकुंरो से घृणा कर बैठेगा, तो फिर उस खेत का भविष्य ही क्या है।” और कहीं न कहीं हमारे देश कि अर्थव्यवस्था और किसानों के प्रति सरकारी सेवाओं की कमी को देखकर तो यही लगता है कि हम उपर्युक्त हालात को आमंत्रित कर रहे हैं। जहां…

Continue Reading

झारखंड की विरासत के उपासक

झारखंड की विरासत के उपासक

“अरुण यह मधुमय देश हमारा।     जहाँ पहुँच अनजान क्षितिज को मिलता एक सहारा।” अद्भुत है यह देवभूमी जहाँ हर 15 मील के अंतराल पर बोली में अंतर आ जाता है, संस्कृतियों में बदलाव आ जाता है, फिर भी भारत सदियों से इन सतरंगी धनुषों को समेटे हुए अविरल और अमिट खड़ा है। जयशंकर प्रसाद…

Continue Reading

मैं भी लोकतंत्र का हिस्सेदार

मैं भी लोकतंत्र का हिस्सेदार

‘मैं भी चौकीदार’ और ‘चौकीदार चोर है’ के नारों के बीच शुरू हुआ दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश में चुनाव। और इस बार लोकतंत्र के इस महापर्व में मैं पहली बार हिस्सेदार बना। मैंने अपने वोट देने के अधिकार का इस्तेमाल कर लोकप्रिय सरकार के गठन में रचनात्मक योगदान दिया। बचपन से ही अपने…

Continue Reading

सफलता के पथ पर चलते लड़खड़ाते पैरों के कदम

सफलता के पथ पर चलते लड़खड़ाते पैरों के कदम

“मेरी असफलताएँ मेरे लिए प्रेरणा का एकमात्र स्रोत हैं और जीवन में मिली हर हार मेरे लिए एक प्रेरणा स्रोत बन जाती है”। – सुधा चंद्रन जैसा कि अंग्रेजी कवि शेक्सपियर ने कहा है, मनुष्य इस संसार नामक रंगमंच के कलाकार है। हमारी जीवन यात्रा में सुख और दु:ख दरिया के दो किनारों के समान है।…

Continue Reading

सेलिब्रिटी शादियों की पूजा

सेलिब्रिटी शादियों की पूजा

“मैं अपनी शादी में अनुष्का वाला लहंगा ही पहनूँगी।”.. “भैया, दीपिका ने अपने संगीत में जो घाघरा पहना था वैसे वाला दिखाओ ना।”.. “मैं भी डेस्टिनेशन वेडिंग करूँगी, बिलकुल रणवीर-दीपिका की तरह!”… इन बातों से अधिकांश लोग ख़ुद को संबंधित पाएँगे। वर्ष 2018 शादियों का साल रहा जिसमें, देश-विदेश की प्रमुख हस्तियाँ एक दूसरे के…

Continue Reading